2019 में लागू होने वाले है ये 15 नियम क्या आप जानते है? - Internet Happy World

Hot

January 6, 2019

2019 में लागू होने वाले है ये 15 नियम क्या आप जानते है?

2019 की 15 ऐसी बाते जो आपकी लाइफ को काफी आसान बना देगी।

15 चीजें जो 2019 में आपके जीवन को आसान बना देंगी।

2019 में लागू होने वाले 15 नए नियमो के बारे में हिंदी में जानकारी।
2018 में कई बदलाव हुए। और इन बदलावो से हमें कई सारि सुविधाएँ मिली। 2019 में भी ऐसे ही कई सारे बदलाव होने वाला है। 2019 के होने वाले बदलाव की घोषणा हो चुकी है। इसमें रेल से लेकर आयकर तक के नियम शामिल हैं। आज के आर्टिकल में हम आपको बताने जा रहे है, ऐसे ही कुछ बदलावों के बारे में जो 2019 में लागू होंगे और किसी ना किसी तरह हमारी सुविधाओं में इजाफा करेंगे। तो चले अब बात करते है वो 15 चीजो के बारे मे जो 2019 में बड़े बदलाव लाने वाले है।

2019 में होने वाले बड़े बदलाव।
1). ट्रेनों में महिलाओं और बुजुर्गों के लिए कोटा में बढ़ावा होगा। :-
वरिष्ठ नागरिक, 45 वर्ष या उससे अधिक उम्र की महिलाओं और गर्भवती महिलाओं की सुविधाओं को ध्यान में रखते हुए, रेलवे ने ट्रेनों में लोअर बर्थ आरक्षण के लिए अपना कोटा बढ़ाया। अब किसी भी श्रेणी के सिंगल कोच के साथ मेल / एक्सप्रेस ट्रेन स्लीपर, एसी -3 टायर और एसी -2 टायर में उनके लिए आरक्षित लोअर बर्थ की संख्या 13 कर दी गईं है। 1 से अधिक कोच वाली ट्रेनों में बर्थ की संख्या 15 होगी। इनके अलावा राजधानी, दूरदराज और अन्य एसी ट्रेनों में उनके लिए 9 लोअर बर्थ रिजर्व होंगे।

अब तक यह नियम था: पहले इस श्रेणी के नीचे आने वाले यात्रियों के लिए राजधानी और दुरंतो के मामले में फूल AC ट्रैन में केवल 7 सीटें आरक्षित थीं। मेल, एक्सप्रेस श्रेणी वाली अन्य ट्रैन में इसकी संख्या 12 थी।
2). आप जो चैनल देखेंगे, केवल इसीकी पैसा देना होगा। :-

भारतीय दूरसंचार प्राधिकरण (TRAI) ने अपने पसंदीदा चैनल का चयन करने के लिए देश के सभी केबल टीवी और DTH उपयोगकर्ताओं को 31 जनवरी तक का समय दिया है। नई योजना के तहत, उपयोगकर्ता अपने पसंदीदा टीवी चैनल को देख सकेंगे और उन्हें केवल उन चैनलों के लिए बिल का भुगतान करना होगा।

वर्तमान में यह नियम है: वर्तमान में, केबल टीवी और डीटीएच उपयोगकर्ताओं को ओपरेटर द्वारा चयन किये गए पैकेज लेना पड़ता था, और उनके आधार पर भुगतान करना होता था।
3). पैन कार्ड को आधार से लिंक करना जरूरी होगा। :-

पैन कार्ड बैंकिंग और आयकर का एक महत्वपूर्ण दस्तावेज है। आधार कार्ड पर शीर्ष अदालत ने फैसला करते हुए पैन कार्ड के लिए आधार कार्ड का उपयोग अमान्य किया है। सुप्रीम कोर्ट के इस फैसले को ध्यान में रखते हुए, केंद्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड (CBDT) ने आधार से भी पान कार्ड लिंक करने की अंतिम तिथि 31 मार्च, 2019 तय की गई है।

लिंक ना करने वाले लोग पे क्या होगा असर? अगर पैन कार्ड को 31 मार्च तक आधार से लिंक नहीं किया तो आयकर विभाग पैन नंबर को हटा सकता है।
4). दुर्घटना बीमा अलग-अलग से नहीं लेना होगा। :-

1  जनवरी, 2019 से, वाहनों के बीमा के साथ देश में नए नियम लागू किए जा रहे हैं। इसके तहत अगर आपके पास एक से अधिक वाहन हैं, तो आपको प्रत्येक वाहन के लिए अलग-अलग दुर्घटना बीमा नहीं लेना होगा। किसी भी एक वाहन के साथ यह कवर लेने से, यह अन्य वाहनों से अन्य वाहनों के लिए मान्य होगा। 

अब तक यह नियम था: अब तक, प्रत्येक वाहन को अलग-अलग बीमा लेना पड़ता था, जिसके परिणामस्वरूप ग्राहक पर अत्यधिक बोझ पड़ता था।
5). Magnetic Stripe वाले ATM कार्ड बंद हो जाएंगे। :-

1 जनवरी से कोई भी चुंबकीय पट्टी वाला डेबिट और क्रेडिट कार्ड काम नहीं करेगा। इसके बजाय, ग्राहकों को चिप वाले कार्ड लेने होंगे। चुंबकीय पट्टी वाला कार्ड कम सुरक्षित होता है, इसलिए कार्ड की सुरक्षा को बढ़ाने के लिए यह कदम उठाया गया है। यदि आपने अभी तक अपना कार्ड वापस नहीं किया है, तो आप बैंक से संपर्क करके इसे बदल सकते हैं। इसके लिए आपको अलग से कोई शुल्क नहीं देना होगा।

चुंबकीय पट्टी वाले कार्ड ऐसे होते हैं: चुंबकीय पट्टी वाले कार्ड में चिप नहीं होती है, और सुरक्षा के लिए पीछे की तरफ एक काली पट्टी होती है।
6). Cheque तेजी से Clear हो जाएगा। :-

1 जनवरी से नॉन-सीटीएस वाले चेक रोक दिए जाएंगे। आरबीआई के आदेश के अनुसार, यदि ग्राहक अभी भी ऐसी चेकबुक का उपयोग कर रहा है, तो उसे बैंक से चेक ट्रंकेशन सिस्टम (सीटीएस) वाली नई चेक बुक लेनी होगी। देश के सबसे बड़े बैंक, आरबीआई ने 12 दिसंबर से नॉन-सीटीएस चेक लेना बंद कर दिया है।

सीटीएस चेक क्या है ? इस चेक का Clearance के लिए फ़िजिकल चेक को एक बैंक से दूसरे बैंक के क्लियरिंग हाउस में भेजने की आवश्यकता नहीं है। पूरी प्रक्रिया चेक की इलेक्ट्रॉनिक छवि भेजकर ऑनलाइन हो जाती है। इससे जल्द ही चेक क्लियर हो जाएगा और इससे बैंकों की लागत भी कम हो जाएगी।
7). ब्याज दरों के निर्धारण की व्यवस्था बदल जाएगी। :-

1 अप्रैल, 2019 से होम लोन और ऑटो लोन पर ब्याज दरों में बदलाव होगा। रिजर्व बैंक द्वारा रेपो दर में बदलाव करने के बाद, बैंक स्वयं ब्याज दर को कम या ज्यादा करने का निर्णय लेती थी। लेकिन आरबीआई ने अप्रैल से रेपो रेट में कटौती के बाद ब्याज कम करने पर रोक लगा दी जाएगी। यही व्यवस्था छोटे व्यवसाय के मालिकों को दिए गए ऋण पर भी लागू होगी।

इसके लिए यह परिवर्तन हुआ: बैंक रेपो रेट बढ़ने पर तुरंत ब्याज दर बढ़ा देती है, लेकिन रेपो रेट घटने के बाद तुरंत लोन सस्ती करते नहीं है। इसकी वजह से लोन लेने वाले ग्राहक को नुकसान उठाना पड़ता है।
8). वाहन के साथ ही दुर्घटना बीमा लेना होगा। :-

Insurance Regulatory and Development Authority (IRDA) के नए नियमों के अनुसार, 1 जनवरी से मोटर बीमा के साथ 15 लाख रुपये का बीमा लेना अनिवार्य होगा। दुर्घटना में, वाहन के मालिक या चालक की मृत्यु या पूर्ण विभाजन होने पर उसके परिवार को यह राशि मिल जाएगी। Accidental Cover के लिए, आपको 750 रुपये का अतिरिक्त प्रीमियम देना होगा। इसके अलावा, अगर कंपनियां चाहें, तो वे वाहन मालिकों से अधिक प्रीमियम लेकर 15 लाख से अधिक का प्रीमियम दे सकेंगी।

अब तक क्या नियम था? अब तक, दोपहिया वाहनों के मालिकों को 1 लाख रुपये के दुर्घटना कवर के लिए 50 रुपये और चार पहिया वाहन के लिए 100 रुपये का भुगतान करना पड़ता था। इसके अलावा कमर्शियल वाहनों पर 2 लाख रुपये का कवर मिलता था।
9). रिटर्न नहीं भरने पर Penalty बढ़ जाएगी। :-

वित्तीय वर्ष 2017-18 का रिटर्न 31 जुलाई तक बिना Penalty भुगतान किया जा सकता था। इसके बाद, जो लोग 1 अगस्त से 31 दिसंबर तक 5 लाख से अधिक वार्षिक आय अर्जित करने वाले, वे केवल 5 हजार रुपये की Penalty के बाद रिटर्न भरने का अधिकार था। अगर आप अब भी नहीं रिटर्न भरे, तो यह जुर्माना 1 जनवरी से 10 हजार रुपये हो जाएगा। इस दंड को भरने से करदाता 31 मार्च, 2019 तक रिटर्न दाखिल कर सकेगा।

5 लाख रुपये से कम आय वाले लोगों के लिए, यह था नियम।
5 लाख रुपये से कम आय वाले करदाताओं के लिए, ईस पेनल्टी 31 जुलाई के बाद ITR का भुगतान करने पर जुर्माना 1 हजार रुपये था। 31 मार्च 2019 तक यही रहेगा।
10). वाहन को High Security Plate से सुरक्षित किया जाएगा। :-

नए साल में सभी वाहनों के लिए हाई सिक्योरिटी रजिस्ट्रेशन प्लेट (HSRP) लगाना अनिवार्य होगा। इस तिथि के बाद बाजार में सभी वाहनों में पहले से ही एक सुरक्षा प्लेट लगी होगी। इस व्यवस्था के कारण, ग्राहकों को उच्च सुरक्षा प्लेट प्राप्त करने के लिए RTO में इंतजार नहीं करना पड़ेगा।

हाई सिक्योरिटी प्लेट से क्या फायदे होंगे?
यह रजिस्ट्रेशन प्लेट में Hologram लगा होगा, और गाड़ी का नंबर लेजर मार्क से लिखा जाएगा। इसके साथ छेड़खानी करने पर यह टूट जाएगा। इसके कारण वाहन चोरी और धोखाधड़ी से राहत मिल सकती है। इस हाई सिक्योरिटी रजिस्ट्रेशन प्लेट के लिए ग्राहकों को अलग से भुगतान नहीं करना होगा।
11). पूरे देश में ड्राइविंग लाइसेंस और आरसी बुक एक जैसे ही होंगे। :-

1 जुलाई, 2019 से देश भर में एक जैसे ही ड्राइविंग लाइसेंस और वाहनों के रजिस्ट्रेशन कार्ड मिलेगा। दोनों कार्ड में QR कोड के साथ एक चिप भी होगी। कार्ड पर प्रिंट जानकारी के अलावा, चिप में ड्राइवर और वाहन की सभी जानकारी शामिल होगी। नए कार्ड में वाहन की सीटिंग, स्टैंडिंग और स्लीपर क्षमता भी लिखी होगी।

अब तक यह नियम है: अब तक अलग-अलग राज्यों में अलग-अलग लाइसेंस और आरसी बुक थे। चिप में सारी जानकारी होने की वजह से इसे एक क्लिक में सारि जानकारी हासिल की जा सकती है।
12). उड़ान इंटरनेशनल योजना से विदेशी यात्रा सस्ती होगी। :-

2019 में, देश भर के हवाई यात्रियों के लिए डीजी ट्रैवल सिस्टम लागू हो जाएगा। हवाई अड्डे पर जांच के लिए आईडी रखने की आवश्यकता कम हो जाएगी। एयरपोर्ट पर प्रवेश करने के लिए फेस स्केनिंग द्वारा पहचान संभव होगी। हैदराबाद और बैंगलोर हवाई अड्डों से शुरू होने वाली यह प्रणाली धीरे-धीरे अन्य हवाई अड्डों पर लागू होगी। इसके अलावा, हवाई जहाज में वाई-फाई कनेक्टिविटी शुरू हो सकती है।.

50% तक सस्ती होगी विदेश यात्रा:
इसके साथ ही उड़ान इंटरनेशनल योजना भी शुरू की जा सकती हैं। ऐसा होने पर, पड़ोसी देशों जैसे दुबई, सिंगापुर, चीन, मलेशिया और श्रीलंका के लिए 50% सीटें सस्ती हो सकती हैं।
13). चलती ट्रेन में कन्फर्म टिकट मिलेगा। :-

यदि किसी यात्री ने ट्रेन चलने के बाद टिकट रद्द कर दिया है, तो टीटीई को थोड़े समय के बाद जानकारी मिलती है। इस कारण ट्रेनों में वेटिंग लिस्ट में नाम वाले लोगों की पुष्टि नहीं की जा सकती है। अब टीटीई के पास एक हैंड-हेल्ड टर्मिनल होगा जिसके साथ डेटा को चलती ट्रेन में अपडेट किया जाएगा और वेटिंग लिस्ट में नाम वाले व्यक्ति को सीट मिल सकती है। शताब्दी, राजधानी और दुरंतो के 500 टीटीई को हैंड-हेल्ड टर्मिनल दिए जाएंगे।

इस तरह से होगा टिकट कन्फर्म:
टीटीई को मिलने वाला यह डिवाइस रेलवे सर्वर से जुड़ा होगा। इसके जरिए टिकट कैंसिलेशन का हर अपडेट टीटीई को मिलेगा। इस तरह, टिकट के रद्द होने पर टीटीई वेटिंग लिंस्ट के अनुसार  टिकट को बर्थ देगा।
14). 25 जनवरी तक वाटर लिस्ट में शामिल होने की संभावना। :-

लोकसभा चुनाव के लिए नए मतदाताओं का नाम वाटर लिस्ट में जोड़ा जाने लगा है। 1 जनवरी 2019 को 18 साल के हो चुके लोग इस सूची में अपना नाम शामिल कर सकते हैं। ऐसा करने की अंतिम तिथि 25 जनवरी है। जिन लोगों के नाम किसी भी कारण से काटे गए हैं, वे भी इस सूची में दर्ज कर सकते हैं।

नाम इस तरह पंजीकृत करें:
सभी मतदाताओं को वाटर लिस्ट में पंजीकरण के लिए BLO को मिलकर फार्म 6 भरना होगा। मतदाता इसके लिए चुनाव आयोग की वेबसाइट पर जाकर आवेदन कर सकते हैं।
15). मिक्स-फ्यूल वाली कारों से 20% की बचत होगी। :-

2019 में डीजल, पेट्रोल के साथ CNG (कंप्रेस्ड नेचुरल गैस), Biofuel और LNG (Liquified Natural Gas) का मिक्स-फ्यूल से चलने वाली कारों बाजार में आएगी। इसके कारण से डीजल पे चलने वाली कारों से ढ़ाई लाख लोगों को फायदा होगा।

ऐसी होगी बचत: मिक्स फ्यूल के इस्तेमाल से फ्यूल की लागत कम होगी। इस ईंधन के उपयोग से लागत में 20% तक की कमी आएगी।

फ्रेंड्स आज के आर्टिकल में हमने बात की 15 चीजें जो 2019 में आपके जीवन को काफी आसान बना देंगी। 2019 में लागू होने वाले 15 नियम के बारे में। 2019 Ki 15 Aisi Baate Jo Aapki Life Ko Kafi Aasan Bana Degi. 2019 के नए बदलाव की, 2019 में नियम की जो हर किसी के जीवन में बहुत बड़ा बदलाव लाने वाला होगा, हमे यही देखना होगा कि ये बदलाव हमारे जीवन मे कितना फायदेमंद साबित होगा। अगर आपको ये आर्टिकल पसंद आया हो तो लाइक शेयर कमेंट जरूर करे। और ऐसे ही फ्री में अपडेट पाना चाहते हो तो हमारे ब्लॉग को subscribe करे। थैंक्स एंड कीप विजिटिंग.....

इससे जुड़े कुछ और आर्टिकल पढ़े:-

1 comment: